अपने पति से Parenting से जुड़ी ये 9 बाते शेयर करें, उस समय के लिए जब आपकी मृत्यु आपके पति से पहले हो जाए

Share this article with other mums

मॉम्स ये हैं वो 9 parenting thoughts जो आपको अपने पति से शेयर करना चाहिए उस समय को धयां में रखकर जब आपकी मृत्यु उनसे पहले हो जाए । इस माँ द्वारा दिए गए इस लिस्ट से आप सहमत हैं ? अपने पति और बच्चों को पीछे छोड़ कर दुनिया से चले जाना औने आप

मॉम्स ये हैं वो 9 parenting thoughts जो आपको अपने पति से शेयर करना चाहिए उस समय को धयां में रखकर जब आपकी मृत्यु उनसे पहले हो जाए । इस माँ द्वारा दिए गए इस लिस्ट से आप सहमत हैं ?

अपने पति और बच्चों को पीछे छोड़ कर दुनिया से चले जाना औने आप में डरावनी फीलिंग है लेकिन फिर भी इसके लिए तैयार तो रहना ही चाहिये। सही तो यही रहेगा की आपके पास ऐसी स्थिति से निपटने के लिए पहले से कोई प्लान हो । या कुछ ऐसे आइडियाज जो आपके जाने के बाद भी आपके हमसफ़र को उसे फॉलो करने के लिए प्रेरित करे ।
बच्चों को पालना कोई आसान काम नहीं है इसीलिए एक माँ/पत्नी को पेरेंटिंग के बारे में सब कुछ धरे करना चाहिए, इससे पहले की कोई हादसा हो । हाल ही में 3 बच्चों की माँ जो कंट्रीब्यूटर भी हैं बहुत दरी हुई दिखीं जब उन्होंने 9 ऐसे thoughts बताएं जो वो अपने पति के साथ शेयर करना चाहेंगी अगर उन्हें पता चल जाए की वो कब मरने वाली हैं। आप भी इस लिस्ट को देखें और बताएं की आप इससे सहमत हैं या नहीं ।
1.बच्चों के साथ सेक्स/ड्रग्स/ड्रिंकिंग आदि की खूब बातें करें
मुझे पता है की ये आपके लिए comfortable तो नही होगा लेकिन ये बहुत जरूरी है।  मुझे पता है की बहुत सी बातें हम पहले ही कर चुके हैं लेकिन ये process चलते रहना चाहिए। ये सुनने में आपको अजीब लगेगा लेकिन हो सकता है कल को हेमंती बेटी सेक्स को लेकर उतनी ही उत्साहित हो जितना कोई भी टीनएज लड़का होता है । मैं ये समझती हूँ क्योंकि कभी मैं भी ऐसी ही लड़की थी ।इसीलिए उनसे सारी बातें करें । उन्हें किसी को तवज़्ज़ो देने में और किसी को चाहने में फर्क समझाएं।  उन्हें अपने और दूसरों के शरीर का सम्मान करना सिखाएं ।
इसके अलावा सुरक्षा के बारे में भी बताना जरूरी है। उन्हें सिखाएं की वो जिनके साथ इंटिमेट होती हैं उनसे कैसे व्यवहार करना चाहिए । उन्हें बताये की की हमेशा जिम्मेदार और खुद के प्रति ईमानदार कैसे रहें। कैसे अपने अंदर को आवाज़ सुनें। उन्हें बताएं की चाहे कैसी भी स्थिति हो, असमंजस की स्थिति में वो हमेशा आपके पास आ सकते हैं, आप उनके लिए सबसे सुरक्षित जगह होने चाहिए । हो सकता है ये उन्हें पता हो लेकिन मुझे नहीं पता, उन्हें फिर से बताना।
2. ध्यान रखें की बच्चे jackasses जैसी हरकत ना करने लगें।
हमें पता है की हमारे बच्चे बहुत प्यारे हैं । लेकिन इसका मतलब ये नहीं है की वो jackass की तरह हरकतें नही करेंगे । अगर उनके टीचर्स उनके jackass बर्ताव की शिकायत करें तो समझ जाना की वो सच में jackass हैं । उन्हें ठीक करें।
3. जासूसी शुरू कर दो
मुझे ओता है की तुम ये काम नहीं कर पाते हो लेकिन मई उनके कमरे में छुप छुप के देखती रहती हूँ।  मैं उनके फ़ोन की हिस्ट्री, उनके जेब सब चेक करती हूँ।  उनके प्राइवेसी की चिंता मत करो। अगर वो कुछ ऐसा कर रहे हैं जो गलत है, उन्हें नहीं करना चाहिए या, गैरकानूनी है, खुद को या दूसरों को नुकसान वहुँचाने जैसी कोई बात हो तो प्राइवेसी तोड़ने में कोई बुराई नहीं है । Bad guy बनने से मत डरना । उनके मन में गलत करते समय वो डर कभी खत्म नहीं होना चाहिए ।
4. किसी दूसरी औरत को घर मत लाना
तुम्हे भी कभी न कभी एक टाइम पर एक साथी की जरूरत महसूस होगी ।लेकिन हाँ बहार किसी औरत से मिलो, होटल जाकर जो करना हो करो लेकिन उन्हें कभी घर लेकर बच्चों के सामने मत आना। जब तक तुम्हे मेरी जैसी ही कोई अच्छी औरत ना मिले तबतक इंतज़ार करना । वैसे मेरे जैसी अच्छी मिलेगी नहीं पर थोड़ा आसपास हो तो भी चलेगी। और जब भी उसे घर लाओ, इस बात का ध्यान रखना की वो हमारे बच्चों से अच्छा बर्ताव करे।

परिवार व छुट्टियां रिलेशनशिप